मंगलवार, मई 14, 2024
होममनोरंजनJiah Khan सुसाइड केस के 10 साल बाद फैसला, आइए जानते है...

Jiah Khan सुसाइड केस के 10 साल बाद फैसला, आइए जानते है क्या हुआ

बॉलीवुड (Bollywood) एक्ट्रेस जिया खान (Jiah Khan) के मौत के बाद से ही उनके सुसाइड मामले में सूरज पंचोली पर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में केस चल रहा था. अब इस मामले में कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए सूरज पंचोली(Sooraj Pancholi) को बरी कर दिया है. जिसके बाद जिया खान (Jiah Khan) की राबिया खान (Rabia Khan) काफी दुखी है। उन्होंने कहा है कि वो जिया की लड़ाई आगे भी लड़ती रहेंगी।

Jiah Khan की मां Rabia Khan जारी रखेंगी अपनी लड़ाई

सूरज पंचोली (Sooraj Pancholi) के बरी होने पर जिया खान (Jiah Khan)  की मां ने कहा है कि उनकी लड़ाई जारी रहेगी। राबिया खान (Rabia Khan)  ने कहा, ‘मैं शुरू से कह रही हूं कि यह केस आत्महत्या के लिए उकसाने का है ही नहीं यह मर्डर है. यह हत्या का केस है। मैं कोर्ट के फैसले का सम्मान करती हूं। मेरी लड़ाई जारी है. फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देंगे। मैं मां हूं और मैं अपनी बेटी के लिए क्यों नहीं लड़ूंगी?’

सुनवाई से पहले Rabia Khan ने दायर की थी याचिका

बता दें कि कोर्ट के फैसला सुनाए जाने से पहले जिया खान(Jiah Khan) की मां राबिया ने कोर्ट में अर्जी दायर की थी. हालांकि कोर्ट ने राबिया की अर्जी पर विचार न करके सूरज पंचोली को जिया खान (Jiah Khan) को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों से बरी कर दिया। इस मामले की जांच पहले मुंबई पुलिस के पास थी. बाद में दिवगंत एक्ट्रेस की मां राबिया खान की अर्जी पर कोर्ट ने इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया था।

10साल बाद आया फैसला

मामले में 10 साल से सुनवाई चल रही थी। जिसके बाद 28 अप्रैल को कोर्ट ने फैसल सूरज पंचोली के पक्ष में सुनाया और उन्हें इस मामले से बरी कर दिया। जिया खान (Jiah Khan)3 जून 2013 को अपने घर में मृत पाई गई थीं. जिसके बाद मामले में सूरज पंचोली (Sooraj Pancholi)  पर जिया को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगा था।

 

जिया की मां बोलीं

जिया खान की मां राबिया खान (Rabia Khan) ने कोर्ट के बाहर कहा,  मैंने अभी हार नहीं मानी है। फाइनल जस्टिस अभी नहीं हुआ है। सबूतों की कमी की वजह से ये फैसला आया है। CBI ने अपना काम ढंग से नहीं किया।”

उन्होंने कहा, “इस केस में फैसला तो आ चुका है, लेकिन मेरी बेटी की मौत कैसे हुई इस पर अभी भी सवाल बना हुआ है। मैं शुरू से कह रही हूं कि ये मामला मर्डर का है। मैं अब हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाऊंगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments