गुरूवार, अप्रैल 25, 2024
होमराजनीतिBJP से डरते है Akhilesh Yadav : Asaduddin Owaisi

BJP से डरते है Akhilesh Yadav : Asaduddin Owaisi

ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुस्लमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा- कोई पुलिस कस्टडी में है, कोई आकर गोली मार देता है, पुलिसवाले कुछ नहीं कर सके। अतीक-अशरफ (Atiq-Ashraf) को गोली मारने वाले नाथूराम गोडसे की नाजायज औलाद हैं। अतीक-अशरफ (Atiq-Ashraf) को गोली मारने वालों के घर पर बुलडोजर क्यों नहीं चला?

अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा

ओवैसी के उस बयान के बारे में जिसने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजनीति को फिर एक बार चुनौती दी है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में निकाय चुनाव का माहौल है, नेता एक दूसरे पर बयानबाज़ी करते नहीं थक रहे बस इसी बीच जाने माने नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने भाजपा (BJP) और सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर जमकर निशाना साधा है। मुसलमान की कोई ताकत नहीं है, इसलिए उन्हें गोली मार दी जाती है। अगर सियासी ताकत होती तो किसी माई के लाल में दम नहीं था कि गोलियां मारकर चले जाते। गांधी के कातिलों को क्या पुलिस कस्टडी में गोलियां मारी गईं? अजमल कसाब के वक्त कानून याद नहीं आया। आपको बता दें ओवैसी का ये बयान उस वक़्त आया जब वो मुरादाबाद की उमरी कलां नगर पंचायत सीट पर निकाय चुनाव में प्रचार करने पहुंचे थे।ओवैसी ने कहा- जब तक जिंदा हूं, आपके लिए आपकी लड़ाई लड़ने आता रहूंगा। मैंने आपसे कहा था, एक चिराग को रोशन करो। लेकिन, आपने नहीं किया। बताइए अब भैया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) कहां हैं? AC में बैठकर ट्वीट कर देते हैं। प्रयागराज (Prayagraj) में पुलिस की कस्टडी में जो कुछ हुआ, उसका नाम लेने से डरते हैं। लेकिन, हम साफ-साफ नाम लेते हैं।

B टीम खारिज किया

ओवैसी (Owaisi) ने कहा- मैं पूरी ताकत से योगी और मोदी के खिलाफ बोलता हूं और आगे भी बोलता रहूंगा। लेकिन, मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि आप गूंगों का साथ क्यों देते हो? बोलते क्यों नहीं? हमें भाजपा की A टीम और B टीम बताकर खारिज किया जाता है। मैं ऐसा कहने वालों से पूछता हूं कि आप कौन सी टीम के हो, कहां से खेल रहे हो?
योगी और मोदी को 2024 में हम हराकर दिखाएंगे। आप लोग कब तक वोट डालने वाले बने रहोगे?आप वोट लेने वाले बनो। योगी-मोदी को हराने की हिम्मत अखिलेश यादव में नहीं है। वो नहीं हरा पाएंगे। मैं अखिलेश से पूछना चाहता हूं कि तुम कितने चुनाव हारे? 2017 का चुनाव हारे, 2019 का चुनाव हारे और 2022 का चुनाव भी तुम हार गए।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments