गुरूवार, अप्रैल 25, 2024
होमएटाहाईवे पर खड़ी एक रोडवेज बस से टकराई कन्नौज डिपो की बस

हाईवे पर खड़ी एक रोडवेज बस से टकराई कन्नौज डिपो की बस

एटा के मलावन क्षेत्र में सोमवार की रात को भीषण सड़क हादसा हो गया। हाईवे पर खड़ी  सिकन्दराबाद रोडवेज बस से कन्नौज डिपो की बस टकरा गई। हादसा तेज रफ्तार के कारण हुआ। 

एटा  में सोमवार की रात को  हाईवे पर खड़ी एक रोडवेज बस से पीछे आई एक तेज रफ्तार रोडवेज बस टकरा गई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बस का आधा हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। बस में सवार लोगो में से 23 लोग घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को मेडिकल कॉलेज भेजा । जहां चिकित्सक ने एक यात्री को मृत घोषित कर दिया। यहां से 11 मरीजों को गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर किया गया है। 

 

एनएच-91 पर सैथरी के पास हुआ हादसा

हादसा थाना मलावन क्षेत्र के एनएच-91 पर सैथरी के पास हुआ है। सोमवार रात करीब साढ़े 10 बजे सिकंदराबाद डिपो की बस खराब होने के कारण से हाईवे पर खड़ी थी। इसी दौरान कन्नौज डिपो की बस ने पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर होते ही दोनों बसों में चीख-पुकार मच गई। यात्रियों की आवाज सुन आसपास के लोग घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़े। हादसे की जानकारी मलावन थाना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस बचाव कार्य में जुट गई। 

घायलों को पहुंचाया मेडिकल कॉलेज 

पुलिस ने घायलों को मेडिकल कॉलेज भिजवाया। हादसे की सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक धनंजय सिंह कुशवाहा एवं सीओ सकीट सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों की टीम भी घटनास्थल पर पहुंच गई। चिकित्सकों ने 11 गंभीर घायलों को हायर सेंटर रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज में एक युवक को मृत घोषित कर दिया गया। मृतक सिकंदराबाद डिपो का ड्राइवर  गौतम बुधनगर का निवासी मनोज अग्रवाल  बताया गया।

तेज रफ्तार के कारण हुआ हादसा

सूचना पर एसएसपी उदयशंकर सिंह देर रात मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उन्होंने हादसे के संबंध में जानकारी ली। एसएसपी उदयशंकर सिंह ने बताया कि सिकंदराबाद डिपो की बस में कुछ खराबी आने के कारण चालक ने बस को सैथरी के पास सड़क किनारे खड़ा कर दिया। बस में सवारियां बैठी हुई थीं। इसी दौरान पीछे से आई कन्नौज डिपो की बस ने टक्कर मार दी। हादसा तेज रफ्तार के कारण बताया जा रहा है। 

डॉक्टरों की दिखी लापरवाही

हादसे के बाद घायलों का मेडिकल कॉलेज के जूनियर और सीनियर डॉक्टरों द्वारा घायलों का इलाज किया जा रहा था। एक बेड पर दो-दो घायलों को लिटाकर उनको इलाज दिया गया। इस दौरान सीएमओ सहित जिला अस्पताल के सीएमएस नहीं पहुंचे थे। एडीएम ने सीएमएस को फोन कर जानकारी दी। इस पर सीएमएस दौड़े चले आए। एडीएम ने  कहा कि यहां बड़ा हादसा हुआ है। आप कमरे के अंदर आराम फरमा रहे हैं, यह गलत बात है। 

RELATED ARTICLES

1 टिप्पणी

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments