गुरूवार, मई 16, 2024
होमब्रजहत्यारोपी पति को गिरफ्तार करने को पुलिस की दबिश जारी

हत्यारोपी पति को गिरफ्तार करने को पुलिस की दबिश जारी

हत्यारोपी : कस्बा के मोहल्ला ब्राह्मणपुरी में एक युवक ने एक महिला के साथ अवैध संबंध के चलते अपनी पत्नी को मारपीट करके जिंदा जला दिया। गंभीररूप से जली महिला को उपचार हेतु दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उसकी गत रविवार की देर शाम मौत हो गई। मृतका के भाई ने कोतवाली में पति व देवर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था । आरोपित पत्नी को मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ में घायलावस्था में छोड़कर फरार हो गया था। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार करने को कई स्थानों पर दबिश दी ।
जानकारी के अनुसार तनुज शर्मा निवासी मोहल्ला लखपत हाथरस ने लिखाई रिपोर्ट में कहा था। कि उसकी बहन श्वेता की शादी 11 वर्ष पूर्व नीरज कौशिक पुत्र राम प्रकाश कौशिक निवासी मोहल्ला ब्राह्मनपुरी थाना सिकंदराराऊ के साथ सम्पन हुई थी। गत 2 सितंबर को श्वेता अपने मायके हाथरस आई थी तो उसने परिजनों को बताया था कि मेरे पति नीरज कौशिक के हेमलता सिंह नाम की एक महिला से अवैध संबंध हो गए हैं ।जब मैं पति के अवैध संबंधों का विरोध करती हूं तो वह मेरे साथ बुरी तरह मारते पीटते हैं । गत 18 सितंबर को शाम 5 बजे रामनिवास शर्मा हाथरस उनके घर आए और उन्होंने बताया कि कि वह आज सिकंदराराऊ श्वेता की ससुराल गये थे। श्वेता के पति नीरज कौशिक व देवर धीरज कौशिक ने श्वेता के साथ बुरी तरह मारपीट की है । शाम 7ः30 बजे तनुज अपनी बहन श्वेता की ससुराल पहुंचा तो दरवाजा अंदर से बंद था और श्वेता के चीखने चिल्लाने की आवाजें आ रही थीं। बाहर मोहल्ले के लोगों की भीड़ जमा थी ।दरवाजा खटखटाया तो पति नीरज कौशिक व देवर धीरज कौशिक दरवाजा खोलकर भागने लगे तभी मोहल्ले के लोगों ने उन्हें पकड़ लिया । घर के अंदर जाकर देखा तो मेरी बहन श्वेता बुरी तरह जली हुई थी और चीख रही थी। मोहल्ले के लोगों ने नीरज कौशिक एवं धीरज उर्फ पिंटू कौशिक पर दबाव बनाया तो दोनों मजबूरी में श्वेता को लेकर हमारे साथ सिकंदराराऊ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। जहां से श्वेता को मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ के लिए रेफर कर दिया गया था । रास्ते में श्वेता ने अपने भाई को बताया कि नीरज कौशिक व धीरज उर्फ पिंटू कौशिक ने उसके साथ मारपीट की है और जान से मारने की नीयत से मिट्टी का तेल डालकर दोनों ने आग लगा दी ।श्वेता को अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था । जहां से मौका पाकर दोनों भाई श्वेता को छोड़कर भाग गए थे। श्वेता की हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने उसे दिल्ली रेफर कर दिया था । जहाँ उसकी गत रविवार को उपचार के दौरान मौत हो गई थी । हत्यारोपी को गिरफ्तार करने को पुलिस ने बीती रात्रि को उसके घर पर दबिश दी । किन्तु पुलिस को कोई सफलता नही मिली । पुलिस हत्यारोपी पति को गिरफ्तार करने के लिए सरगर्मी से तलाश करने में जुटी हुई है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments