सोमवार, जून 24, 2024
होममथुरास्वर्ण रथ पर विराजे श्रीबांकेबिहारी भक्तों को दिए दिव्य दर्शन

स्वर्ण रथ पर विराजे श्रीबांकेबिहारी भक्तों को दिए दिव्य दर्शन

श्रीबांकेबिहारी के दिव्य दर्शन पाकर भक्त अपने आपके धन्य समझ रहे है। वृंदावन में शुक्रवार को जगन्नाथ रथ यात्रा के मौके पर श्रीबांकेबिहारी ने सोने चांदी के रथ पर विराजमान होकर भक्तों को दिव्य दर्शन दिए। वर्ष में एक बार जगन्नाथ रथ यात्रा के मौके पर ठाकुर जी दिव्य रथ पर विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देते है। पूरा मंदिर प्रांगण भक्तों के जयकारें से गूंज रहा था। पूरे मंदिर परिसर को फूल मालाओं से सजाया गया। मंदिर प्रांगण में सुगंधित इत्रों का छिड़काव किया गया।  इसके बाद श्रीबांकेबिहारी महाराज ने भव्य फूलबंगले के बीच सजाए स्वर्ण रजत रथ पर विराजमान हुए। सुबह और शाम को पट खुलते ही भक्तों की भीड़ मंदिर परिसर में प्रवेश कर गई। भक्त अपने पूज्य ठाकुर जी के दिव्य स्वर्ण रजत रथ पर दर्शन पाकर धन्य हो गए। सोने और चांदी से बने इस दिव्य रथ में चार घोड़े और एक बग्गी है। बग्गी पर सवार होकर श्रीबांकेबिहारी महाराज भक्तों को दर्शन देते हैं। यह रथ चंद्र आनंद निकुंज बिहारी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा हर वर्ष रथयात्रा महोत्सव के दिन मंदिर में ठाकुर जी के लिए सजाया जाता है। आचार्य बृजेंद्र किशोर ने हमें बताया। वर्ष में एक बार जन-जन के पूज्य बिहारी जी स्वर्ण-रजत रथ पर विराजमान होकर भक्तों को दिव्य दर्शन देते हैं। श्रीबांकेबिहारी मंदिर में रथ सेवा हर वर्ष जगन्नाथ रथ यात्रा के मौके पर चंद्र आनंद निकुंज बिहारी चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा की जाती है। यह रथ वर्ष 2013 में ट्रस्ट ने बनवाया था।

RELATED ARTICLES

1 टिप्पणी

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments