शनिवार, जुलाई 20, 2024
होमutterpradeshविरोध के चलते जिले में 283 शिक्षकों ने दी डिजीटल उपस्थिति

विरोध के चलते जिले में 283 शिक्षकों ने दी डिजीटल उपस्थिति

डिजिटाइजेशन ऑनलाइन उपस्थिति आदेश के विरोध में शिक्षक संगठनों ने संयुक्त रूप से मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी , प्रभारी मंत्री को सौंपा
समस्या समाधान के बाद लागू हो डिजिटाइजेशन ऑनलाइन उपस्थिति की व्यवस्था

हाथरस (जिनेन्द्र जैन)।
सोमवार को शुरू हुई शिक्षकों की डिजीटल हाजिरी के पहले ही दिन सभी शिक्षक संगठनों ने जमकर विरोध के साथ 283 शिक्षकों ने अपनी ऑनलाइन हाजिरी दी।
15 जुलाई से शुरू होने बाली शिक्षकों की ऑनलाइन उपस्थिति विभाग द्वारा 8 जुलाई से शुरू करा दी गयी जिसका सभी शिक्षक संगठनों ने मिलकर जमकर विरोध किया रविवार को एक्स पर वॉयकाट ऑनलाइन हाजिरी की मुहिम चलाई। जिले के 1018 परिषदीय विद्यालयों में सोमवार से ऑनलाइन हाजिरी के साथ विद्यालय के 12 विभिन्न रजिस्टरों को डिजीटल करने का कार्य शुरू होना था जो शिक्षकों के विरोध के बाद फेल नजर आया।


डिजीटाइजेशन के विरोध में जिले के सभी शिक्षक संगठनों ने एक होकर राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिलाध्यक्ष रविकांत मिश्र के नेतृत्व में सैकड़ों शिक्षक शिक्षिकाओं की मौजूदगी में डिजिटाइजेशन ऑनलाइन उपस्थिति के विरोध में मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन जनपद के प्रभारी मंत्री असीम अरुण , सांसद अनूप प्रधान व ब्लॉक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय की उपस्थित में जिलाधिकारी अशीष कुमार को सौंपा। डॉ० संजय गौतम ने कहा कि महानिदेशक स्कूल शिक्षा द्वारा 8 जुलाई से पंजिकाओं का डिजिटाइजेशन/ऑनलाइन उपस्थिति देने का आदेश निर्गत किया गया है जो कि तुगलकी फरमान है। विभागीय अधिकारी वातानुकूलित कक्ष में बैठकर बिना जमीनी सच्चाई जाने ही इस प्रकार के अव्यावहारिक आदेश करते रहते हैं। जिनमें आने वाली व्यावहारिक कठिनाइयों को दूर किए बिना उसको लागू करा पाना संभव ही नहीं है। रविकान्त मिश्र ने कहा कि प्रदेश नेतृत्व द्वारा कई बार महानिदेशक स्कूल शिक्षा को ज्ञापन सौंपकर डिजिटाइजेशन से जुड़ी मौलिक समस्याओं को दूर करने की माँग की गई तथा 14 मार्च 2024 को महानिदेशक स्कूल शिक्षा कार्यालय में धरना भी किया गया था। तब महानिदेशक द्वारा संगठन के प्रतिनिधिमण्डल को आश्वासन दिया गया था कि डिजिटाइजेशन से जुड़ी मौलिक समस्याओं के निस्तारण के पश्चात ही इसे लागू किया जाएगा। किंतु माँगें पूरी नहीं की गयीं। का० मंडल अध्यक्ष हरीश शर्मा ने कहा कि विभागीय अधिकारी दमन पूर्वक डिजिटाइजेशन/ऑनलाइन उपस्थिति व्यवस्था लागू करना चाहते हैं जिसका संगठन पुरजोर विरोध करता है। का० जिला अध्यक्ष डॉ० संध्या अग्रवाल ने कहा कि महासंघ विभागीय व सामाजिक दायित्वों के प्रति सजग रहकर छात्र हित व शिक्षा हित में इस आदेश का बहिष्कार कर रहा है । जिला मीडिया प्रभारी संजय शर्मा ने कहा कि प्रमुख समस्याओं का समाधान किये बिना ही विभागीय अधिकारियों द्वारा भय का वातावरण बनाकर डिजिटाइजेशन /ऑनलाइन उपस्थिति (फेस रिकग्निशन) की व्यवस्था केवल बेसिक शिक्षा विभाग में ही लागू की जा रही है। इससे पूरे प्रदेश का शिक्षक समाज स्वयं को अपमानित एवं ठगा महसूस कर रहा है। शिक्षकों में शासन व विभाग के प्रति व्यापक आक्रोश है।

ज्ञापन सौंपने वालों में जिला उपाध्यक्ष ब्रजेश शर्मा, मीनाक्षी सिंह, राजवीर सिंह, राजेश गौतम, डॉ० गोपाल, धर्मेंद्र सारस्वत, रमेश चौधरी, भूपेन्द्र सिंह, सुनील शर्मा, तरुण शर्मा, राजेन्द्र लवानियाँ, हेमन्त कटारा, आशुतोष अग्निहोत्री, अजय शर्मा, अजीत राना, राहुल देव, मनोज शर्मा, अंकित चौहान, अमित कुमार, केरम सिंह, सोहन लाल, विष्णु चौधरी, आदि सैकड़ों शिक्षक उपस्थित रहे । डिजिटल उपस्थिति के विरोध में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के साथ उत्तरप्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने अपना समर्थन प्रदान किया । जिसमें जिलाध्यक्ष सुनील शर्मा जिला मंत्री तरुण शर्मा के नेतृत्व में वरिष्ठ उपाध्यक्ष हितेश शर्मा ,लक्ष्मीकांत जुगेंद्र चौधरी,रामवल्लभ,भगवान दास ,मधुलता,अनुज्ञा अग्रवाल,आरती जिंदल,अंजली शर्मा, हेमेंद्र कुमार ,राहुल कुमार, चंद्रशेखर सिंह जितेंद्र कु।मार,तरुण विजय सेंगर, संजय सिंह जादौन,राजेश चतुर्वेदी ,नरेंद्र मोहन ,मोहिनी शर्मा,बबिता,गरिमा सिंह ,सुनीता सिंह , सुधीर चौधरी , मनोज पुंढीर ,ललित प्रजापति , मनोज परिहार , विवेक समाधिया,प्रियंका ,पूनम, गोपी अग्रवाल, विजया आर्या ,प्रवीन उपाध्याय ,आशीष रस्तोगी,पिंकी शर्मा , प्रदीप कुमार , चंद्रशेखर सिंह ,गीतम सिंह ,बीना खान,भारती,गिरीश कुमार, माला पुष्कर ,वीना कुमारी ,श्वेता कुमारी ,सुधा राजन डबास ,सचिन कुमार , सुनीता सिंह रामगढ़ , घूरे सिंह ,अमरजीत सिंह ,अमित कुमार ,दिगम्बर सिंह ,शिवम गौतम , अरविंद कुमार आदि सैकड़ों पदाधिकारी शिक्षक उपस्थित रहे । कार्यक्रम में जिला कार्यकारिणी यूटा हाथरस के द्वारा आर एस एम को समर्थन प्रदान किया गया एवं ज्ञापन के समय जिला अध्यक्ष डॉ प्रदीप कुमार पुंडीर, हरि सिंह जिला महामंत्री ,अवधेश कुमार वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष ,महेश बघेल जिला उपाध्यक्ष, विष्णु राजपूत जिला कार्यकारिणी सदस्य एवं राकेश रावत जिला जिला कोषाध्यक्ष उपस्थित रहे
शिक्षक संगठनों की प्रमुख माँगें – 
अन्य विभागों की भांति हाफ डे लीव अवकाश का दिया जाए। राज्य कर्मचारियों की भांति 30 ई.एल. या महाविद्यालयों के शिक्षकों की भांति पी.एल. दिया जाए। अन्य विभागों की भांति प्रतिकर अवकाशश् प्रदान किया जाये।मौसम की प्रतिकूलता व विभागीय कार्यक्रमों में प्रतिभाग हेतु बी.एस.ए. को ऑनलाइन उपस्थिति में शिथिलता का अधिकार दिया जाये। सर्वर क्रैश होने पर वैकल्पिक व्यवस्था का स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किया जाए।- भेदभाव पूर्णं व शोषणकारी ऑनलाइन उपस्थिति की व्यवस्था को समाप्त कर अन्य विभागों की भाँति ही उपस्थिति ली जाए।
जिले में 283 शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज करायी है जिन शिक्षकों ने आज ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज नहीं करायी है उनको ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज कराने के लिये प्रेरित किया जायेगा सभी शिक्षकों की समस्या के समाधान की हर सम्भव कोशिश की जायेगी।
आलोक प्रताप श्रीवास्तव प्रभारी बीएसए         हाथरस। 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments