रविवार, अप्रैल 21, 2024
होमराजनीतिमणिपुर हिंसा पर गृहमंत्री अमित शाह करेंगे विपक्ष से बात

मणिपुर हिंसा पर गृहमंत्री अमित शाह करेंगे विपक्ष से बात

मणिपुर में 50 दिन पहले मैतेई और कूकी समुदाय के बीच शुरू हुई हिंसा अभी तक नहीं थमी है। ऐसी हालत हो गई है कि हिंसाग्रस्त इलाकों ने पुलिस थाने तक को लूट लिया है।

आपको बता दें कि मणिपुर में बीते 50 दिनोें से अधिक हो रही हिंसा थमने का नाम ही नहीं ले रही है। पुलिस, राइफल और अन्य सुरक्षा ऐजेंसियों की तमाम कोशिशों के बावजूद मैतेई और कूकी समुदाय के बीच जातीय संर्घष थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस मसले पर केंद्र सरकार ने बीते दिनों सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। यह बैठक 24 जून  शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता दिल्ली में सम्पन्न होगी। इस बैठक में केंद्र सरकार सभी दल के नेताओं से मणिपुर हिंसा और इसके कारणों के बारे में बात करेगी। और इससे जुड़े मुद्दों पर भी विपक्षी दल सरकार से अपील कर सकती है। हालांकि इतने दिनों बाद हुई इस बैठक को लेकर सभी विपक्षी दल सरकार पर निशाना साध रहे हैं।


 

क्या बोले विपक्षी पार्टियों के नेता?

इस बैठक को लेकर विपक्षी पार्टीयों के सभी नेताओं ने अपना पक्ष रखा है। कांग्रेस ने गुरूवार को यानी 22 जून को कहा था कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की अधिकारिक यात्रा पर हैं तो ऐसे समय में मणिपुर के मामले पर सर्वदलीय बैठक बुलाये जाने का क्या मतलब है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि क्या मणिपुर की सर्वदलीय बैठक प्रधानमंत्री के लिए महत्वपूर्ण नहीं है।

राहुल गांधी ने टवी्ट किया कि मणिपुर 50 दिनों से जल रहा है, लेकिन प्रधानमंत्राी मौन रहे। उन्होंने कहा सर्वदलीय बैठक तब बुलाई गई जब प्रधानमंत्री खुद देश में नहीं हैं। राहुल गांधी ने कहा साफ है कि प्रधानमंत्री के लिए यह बैठक महत्वपूर्ण नहीं है। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने भी एक वीडियो जारी कर कहा नरेंद्र मोेदी अमेरfका में हैं लेकिन मणिपुर के बारे में बिलकुल खामोश हैं।   

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments