सोमवार, मई 27, 2024
होमब्रजभगवान राम ने संतों की रक्षा और धर्म की स्थापना के लिए...

भगवान राम ने संतों की रक्षा और धर्म की स्थापना के लिए जन्म लिया – मृदुल कृष्ण गोस्वामी

दिल्ली

पीतमपुरा वैस्ट में चल रही श्रीमद् भागवत् कथा ज्ञान यज्ञ में प्रतिदिन सैकड़ों वैदिक संस्कृति से जुड़े विद्वानों द्वारा आहूतियां प्रदान की जा रही हैं, वृंदावन से पधारे पूज्य संत मृदुल कृष्ण गोस्वामी जी महाराज जी ने कथा के चौथे दिवस आज बताया कि गीता में भगवान ने चार प्रकार के भक्त बताए हैं l
सबसे पहले बामन अवतार की लीला का वर्णन किया। जिसमें बताया कि भगवान वामन का अवतार हुआl वामन भगवान ने 3 पग भूमि का दान मांगा राजा बलि से।
श्री राम जन्म की लीला का वर्णन करते हुए बताया कि भगवान राम ने संतों की रक्षा और धर्म की स्थापना के लिए जन्म लिया।
तत्पश्चात भगवान श्री कृष्ण अवतार की लीला का बड़ा ही भावुक बर्णन किया l उन्होंने भजनों के माध्यम से कहा कि ओह बनवारी ओह मोहन मुरारी निराली तेरी माया निराली रे, लिया तुमने जन्म बुद्ध का प्रभु बुद्धि सबकी चकराई l
कथा के दौरान भगवान वामन, भगवान राम और भगवान श्री कृष्ण की झांकी का बाल कलाकारों का द्वारा सुंदर मंचन किया गया l


कृष्ण के जन्म के बाद नंद भवन में चारों ओर बधाई देने हेतु सभी ब्रजवासी आ रहे हैं और क्या गा रहे हैं l नंद के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की l
आज की कथा में महा महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी श्री नवल किशोर दास जी महाराज हरिद्वार, सचिव दिल्ली संत मंडल ने उपस्थित श्रद्धालुओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि इस पावन पुण्य भागवत कथा में एकल अभियान जैसे कार्यों आचार्य श्री द्वारा सराहना किया जाना इस अभियान के लिये आशीर्वाद समान है । वन्य क्षेत्र में चल रहे विद्यालयों में आप भी वन यात्रा करें विद्यालय दर्शन करके देखें कि यह अभियान गांवों में पंचमुखी शिक्षा एवं योजना के कितने उत्तम कार्य कर रहा है।


कार्यक्रम में अतिथि के रूप में श्री श्याम जाजू पूर्व उपाध्यक्ष भाजपा दिल्ली ने भागवत आचार्य श्री मृदुल कृष्ण गोस्वामी जी से आशीर्वाद लिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments