शनिवार, जुलाई 20, 2024
होमराष्ट्रीयपेड़ पर लटके मिले युवक संग किशोरी के शव देखने के...

पेड़ पर लटके मिले युवक संग किशोरी के शव देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़


अलग-अलग समुदाय के हैं दोनों मृतक
– पुलिस ने शवों का कराया पोस्टमार्टम। जनपद के कई थानों से पहुंचा फोर्स

सिकंदराराऊ:
नगर के जीएस कॉलेज मार्ग पर खेतों में एक पेड़ पर युवक व किशोरी के शव लटके मिलने से क्षेत्र में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में शवों को पेड़ से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।


गुरूवार की अलख सुबह मौ0 गौसगंज स्थित जीएस कॉलेज मार्ग पर लोग अपने खेतों में चारा लेने के लिए जा रहे थे तभी लोगों की नजर सड़क किनारे एक खेत में लगे नीम के पेड़ पर पड़ी जिस पर एक युवक व किशोरी के शव पेड़ पर लटक रहे थे। लटके हुए शवों को देखकर लोग पेड़ के नजदीक पहुंचे तो उनमें से युवक की पहचान मौहल्ला गौसगंज निवासी मोनू यादव पुत्र अजबीर यादव व कि किषोरी जेवा मौहल्ला षीषगर की पहचान के रूप में हुई। जब लोगों ने सूचना युवक के घर दी तो युवक के परिजन रोते बिलखते हुए घटना स्थल पर पहुंच गये जहां युवक के शव को पेड़ पर लटका देख उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी। परिजनों का मौके पर रो रो कर बुरा हाल था। युवक व किशोरी के शव पेड़ पर लटके होने की सूचना पर आस आस पास के लोगों की भारी भीड़ लग गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस ने घटना स्थल से पेड़ पर लटके एक कागज को भी बरामद किया है जिस पर मृतक मोनू की ओर से पुलिस विभाग के लिए कुछ लिखा हुआ था। पुलिस इस मामले की छानबीन में जुट गयी है। मृतक अलग अलग समुदाय के होने के कारण पुलिस सक्रीय बनी हुई है और क्षेत्र में काफी संख्या में फोर्स तैनात कर दिया गया है।

हसायन थाना प्रभारी जगदीष चन्द्र व हाथरस जंक्षन प्रभारी मनोज कुमार षर्मा घटना स्थल पर


किशोरी के परिजन युवक की मुलाकात को लेकर काफी दिनों से परेशान थे। जब मामला उनके हाथ में नहीं रहा तो उन्होंने पुलिस का दरबाजा खटखटाया। किशोरी के परिजनों की ओर से पुलिस को दो सप्ताह पूर्व दोनों की हरकतों को लेकर अवगत भी कराया था। पूरा मामला पुलिस के संज्ञान में था पुलिस यह भी अच्छी तरह समझ रही थी कि मामला दो समुदाय से जुड़ा है जिसमें कुछ गलत हुआ तो बहुत बड़ा बवाल हो सकता है। लेकिन पुलिस ने इस मामले को हल्के में लिया बजाय लिखित कार्यवाही करने के ऊपर ही ऊपर इस मामले को निपटाने में जुट गयी। कई दिन बीत जाने के पश्चात जब कोई कार्यवाही नहीं हुई तो किशोरी की मां की ओर से एक तहरीर कोतवाली पुलिस को दी गयी। जिस पर कोतवाली पुलिस ने दो लोगों को इसमें लगा दिया। पुलिस निरंतर युवक पर मिलने का दबाव बना रही थी लेकिन पुलिस की युवक से मुलाकात नहीं हो पायी। घटना से एक दिन पूर्व कोतवाली से एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर दो पुलिस वाले मृतक युवक के घर दबिश देने पहुंचे लेकिन मौके पर युवक नहीं मिला।
मृतक की पुलिस से हुई थी टेलीफोन पर वार्ता
पुलिस दोनों समुदाय से जुड़े इस मामले को लेकर एक तरफा दबाब बनाये हुई थी मृतक किशोरी की मां की तहरीर मिलने के बाद पुलिस युवक को हर हाल में गिरफ्तार करना चाहती थी लेकिन युवक पुलिस के हाथ नहीं लग सका। हालांकि इस दौरान कोतवाली पुलिस के एक सिपाही से मृतक के टेलीफोन पर भी वार्ता हुई है। पुलिस के भय के कारण युवक पुलिस की बातों में नहीं आया और अपने आप को पुलिस से दूर बनाए रखा।

देर रात्रि युवक के परिजनों की गिरफ्तारी और सुबह घटना
पुलिस बुधवार की रात्रि को ही मृतक युवक के पिता व उसके भाई को पकड़कर कोतवाली ले आयी थी। हालांकि परिजनों को तब तक यह भी नहीं मालूम था कि उन्हें किस जुर्म में पकड़ा जा रहा है। पुलिस पर ऐसा क्या दबाब बना हुआ था कि रात्रि में ही पिता व पुत्र को पकड़ लिया। जब गुरूवार की सुबह युवक के मरने की सूचना परिजनों को मिली तो मौके पर युवक की बहन व उसके परिजन मौजूद थे युवक का पिता व भाई तब भी कोतवाली में पुलिस की हिरासत में था

बरामद पत्र के क्या मायने
पुलिस को घटना स्थल से बरामद हुआ एक कागज अपने आप में बहुत बयां कर रहा है लेकिन पुलिस इस कागज पर लिखी बातों को किस बिन्दु से जोड़कर देखती है यह पुलिस जाने लेकिन जो कागज में लिखा है वह पुलिस की दबाबीय कार्यप्रणाली के इर्द-गिर्द इशारा कर रहा है। मृतक मोनू यादव ने पत्र में लिखा है कि वह किशोरी को फोन नहीं करता था किशोरी की तरफ से उसके फोन पर कॉल आती थी। मेरे मोबाइल को सर्विलाइंस पर लगाकर इसकी जांच करा ली जाए।

कॉल डिटेल खोल सकती है घटना का राज
मृतक युवक व किशोरी के प्रकरण में एक सूत्र है जो इस घटना का कुछ पर्दाफाश कर सकता है वह है युवक व किशोरी के मोबाइल की कॉलिंग डिटेल। कई माह से युवक व किशोरी आपस में एक दूसरे से मुलाकात के साथ फोन पर भी वार्ता करते थे जब फोन की वार्ता का मामला ज्यादा बड़ा तो किशोरी के परिजनों को इसकी भनक लग गयी और तभी से दोनों की मुलाकात पर रोक लगती चली गयी। परिजन इस मामले को लेकर काफी परेशान थे। बताया यह भी जाता है कि मृतक किशोरी की मां नहीं है वह अपने परिवार की चाची के साथ रहती है।

फाइल फोटो


मृतकों के आपस में प्यार की चर्चा
मृतक युवक व किशोरी आपस में प्यार करते थे ऐसी चर्चा घटना स्थल पर बनी हुई थी लोग उनको देखकर पूरी तरह पहचान कर गये थे कि यह दोनों तो काफी समय से एक दूसरे को जानते है और इनका आपस में प्यार का चक्कर भी चल रहा है। बताया जाता है कि युवक जिस मौहल्ले का निवासी है उसी मौहल्ले में एक व्यक्ति के मकान में मृतक किशोरी के परिजन कई माह रहे थे तभी इन दोनों के आपस में सम्बन्ध बने हुए बताये जा रहे हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments