सोमवार, मई 27, 2024
होमराजनीतिपीएम मोदी-सीएम योगी-अखिलेश तक, जानें किसके गढ़ में कौन जीता

पीएम मोदी-सीएम योगी-अखिलेश तक, जानें किसके गढ़ में कौन जीता

यूपी निकाय चुनाव में मिली जीत पर बीजेपी कार्यालय में जश्न

बीजेपी कार्यालय पर यूपी निकाय चुनाव में मिली जीत पर जश्न मनाया गया. इस दौरान सीएम योगी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए पार्टी के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बधाई दी सीएम योगी ने कहा कि यूपी में बीजेपी के कार्यकर्ताओं की मेहनत, सरकार संगठन के काम, पीएम मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने अब तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है पहली बार सभी नगर निगमों में बीजेपी ने जीत दर्ज की है।

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव के परिणाम आने लगे हैं। सभी 17 नगर निगमों में भाजपा आगे चल रही है। झांसी में भाजपा उम्मीदवार बिहारी लाल आर्य ने  83548 वोटों से बड़ी जीत दर्ज की है। ओवरऑल आंकड़ों को देखें तो अब तक 332 नगर निगम पार्षद, 88 नगर पालिका परिषद अध्यक्ष, 385 नगर पालिका परिषद सदस्य और 165 नगर पंचायत अध्यक्ष के पदों पर भाजपा को या तो जीत मिली है या फिर आगे चल रही है। 579 नगर पंचायत सदस्य पदों पर भी भाजपा आगे है। कुल मिलाकर गांव से लेकर शहरों तक भाजपा का कब्जा बना हुआ है।

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र का हाल
वाराणसी नगर निगम में 100 पार्षद की सीटें हैं। इनमें अब तक 91 सीटों के नतीजे जारी हो चुके हैं। आंकड़ों के अनुसार, इन 91 में से 56 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है। 13 पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार विजेता हुए हैं। 15 निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी बाजी मार ली है। सात सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशी चुनाव जीतने में कामयाब हुए।सीएम योगी के गढ़ में क्या है भाजपा की स्थिति ? 

गोरखपुर नगर निगम में 80 पार्षद की सीटें हैं। इनमें से 41 पर भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है। 17 सीटों पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार जीतने में कामयाब हुए। पांच बसपा, एक कांग्रेस प्रत्याशी ने चुनाव जीता। 15 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव जीत गए।

अखिलेश के गढ़ में क्या हुआ? 

इटावा और मैनपुरी समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव का गढ़ माना जाता है। इटावा में तीन नगर पालिका अध्यक्ष पद, 90 नगर पालिका परिषद सदस्य, तीन नगर पंचायत अध्यक्ष और 37 नगर पंचायत सदस्यों की सीट है। अभी तक 15 नगर पालिका परिषद सीटों के नतीजे आ चुके हैं। इनमें सिर्फ दो पर भाजपा को जीत मिली है, जबकि नौ पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है। अन्य के नतीजे अभी स्पष्ट नहीं हुए हैं। इसी तरह मैनपुरी में समाजवादी  पार्टी ने नगर पंचायत अध्यक्ष की सीट जीत ली है। नगर पंचायद सदस्यों की 11 सीट पर भाजपा को जीत मिली है। सपा ने सात सीटों पर अभी तक कब्जा किया है।

रायबरेली में सोनिया के संसदीय क्षेत्र की क्या है स्थिति? 

लंबे समय से रायबरेली लोकसभा सीट सोनिया गांधी के कब्जे में है। इस जिले में एक नगर पालिका अध्यक्ष, 34 नगर पालिका परिषद सदस्य, नौ नगर पंचायत अध्यक्ष और 110 नगर पंचायत सदस्यों का पद है। नगर पालिका परिषद सदस्यों की करीब 20 सीटों पर भाजपा या तो आगे है या फिर जीत चुकी है। इसी तरह नौ में से पांच नगर पंचायत में भाजपा और सपा के बीच कांटे की टक्कर है। 110 नगर पंचायत सदस्यों की सीट में 40 से ज्यादा पर भाजपा या तो जीत चुकी है या फिर आगे चल रही है।
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments