गुरूवार, मई 16, 2024
होमराजनीतिपीएम मोदी ने सिडनी स्पीच में इन बातों का किया जिक्र

पीएम मोदी ने सिडनी स्पीच में इन बातों का किया जिक्र

सिडनी स्पीच: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (23 मई) को ऑस्ट्रेलिया (Australia) के सिडनी में सामुदायिक कार्यक्रम को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि मैं जब 2014 में आया था तब आपसे एक वादा किया था कि आपको फिर भारत के किसी प्रधानमंत्री का 28 साल तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। आज सिडनी में, इस एरीना में, मैं फिर हाजिर हूं और मैं अकेला नहीं आया हूं. प्रधानमंत्री अल्बनीज (Anthony Albanese) भी मेरे साथ आए हैं।

इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। पीएम मोदी लोगों के बीच में भी गए। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि न्यू साउथ वेल्स में प्रवासी भारतीय समुदाय से कई लोग सार्वजिनक जीवन में सक्रिय भागीदारी कर रहे हैं, अपनी पहचान बना रहे हैं. इसी वर्ष मुझे प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बनीज जी का भारत की धरती पर अहमदाबाद में स्वागत करने का अवसर मिला था। आज उन्होंने यहां द “लिटिल इंडिया” गेटवे की आधारशिला रखने में मेरा साथ दिया है। मैं उनका बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं।

 

भारत-ऑस्ट्रेलिया के संबंध पर क्या बोले पीएम?

पीएम मोदी ने कहा कि एक समय था जब 3सी भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच संबंधों को परिभाषित करते थे, ये तीन थे कॉमनवेल्थ, क्रिकेट और करी। उसके बाद, ये 3डी था- डेमोक्रेसी, डायस्पोरा और दोस्ती. जब ये 3ई बना, तो यह एनर्जी, इकोनॉमी और एजुकेशन के बारे में था, लेकिन सच्चाई यह है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच संबंधों की वास्तविक गहराई इन सी, डी, ई से परे है। इस रिश्ते की सबसे मजबूत और सबसे बड़ी नींव वास्तव में आपसी विश्वास और आपसी सम्मान है और इसके पीछे असली कारण भारतीय प्रवासी हैं।

योग, क्रिकेट, मास्टरशेफ का किया जिक्र

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि हमारी जीवन शैली अलग हो सकती है, लेकिन अब योग भी हमें जोड़ता है. हम लंबे समय से क्रिकेट से जुड़े हुए हैं, लेकिन अब टेनिस और फिल्में भी हमें जोड़ रही हैं. हम अलग-अलग तरीकों से खाना तैयार कर सकते हैं, लेकिन मास्टरशेफ अब हमें जोड़ रहा है. मुझे ये जानकर अच्छा लगा कि आप सब ने भी आजादी का अमृत महोत्सव भी बड़े धूमधाम से मनाया है. हमारे किक्रेट के रिश्ते को 75 वर्ष पूरे हो गए हैं. किक्रेट की फील्ड पर मुकाबला जितना रोचक होता है उतनी ही गहरी हमारी ऑफ द फील्ड दोस्ती है.

शेन वार्न को किया याद

भारत के युवाओं का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि भारत के पास सामर्थ्य की कमी नहीं है. भारत के पास संसाधनों की भी कमी नहीं है. आज दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे युवा टैलेंट फैक्ट्री भारत में है. उन्होंने कहा कि पिछले साल जब महान क्रिकेटर शेन वार्न का निधन हुआ तो ऑस्ट्रेलिया के साथ कोटि-कोटि भारतीयों ने भी शोक मनाया. ये ऐसा था जैसे हमने अपना कोई खो दिया। आप सभी का एक सपना रहा है कि हमारा भारत भी विकसित राष्ट्र बने. जो सपना आपके दिल में है वो सपना मेरे दिल में भी है।

पीएम अल्बनीज को चाट-जलेबी खिलाएं

भारतीय खाने को लेकर पीएम ने कहा कि मैंने सुना है कि हैरिस पार्क में जयपुर स्वीट्स की चटकाज़ ‘चाट’ और ‘जलेबी’ बहुत स्वादिष्ट हैं. मैं चाहता हूं कि आप सभी मेरे मित्र ऑस्ट्रेलियाई पीएम अल्बनीज को उस जगह लेकर जाएं. उन्होंने कहा कि विश्व बैंक के अनुसार, यदि कोई देश है जो वैश्विक विपरीत परिस्थितियों का सामना कर रहा है, तो वह भारत है। भारत ने सबसे चुनौतीपूर्ण समय में भी रिकॉर्ड निर्यात किया है. पिछले 9 सालों में भारत ने काफी तरक्की की है। हमने गरीब लोगों के लिए करीब 50 करोड़ बैंक खाते खोले हैं। इतना ही नहीं, दरअसल भारत में पब्लिक डिलीवरी का पूरा इको-सिस्टम ही बदल गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments