शनिवार, जुलाई 20, 2024
होमराष्ट्रीयशिक्षकों का विरोध जारी डिजीटल हाजिरी से आक्रोश

शिक्षकों का विरोध जारी डिजीटल हाजिरी से आक्रोश

ऑनलाइन हाजिरी के विरोध में काली पट्टी बांधकर शिक्षकों ने कराया शिक्षण कार्य

हाथरस। (जिनेन्द्रजैन) ।

विभाग द्वारा सोमवार से शुरू हुई शिक्षकों की डिजीटल हाजिरी के आदेश से शिक्षकों में काफी गुस्सा है आदेश के पहले दिन पॉच हजार से अधिक शिक्षकों में से महज 283 शिक्षकों ने अपनी ऑनलाइन हाजिरी लगाकर प्रदेश में दसवॉ स्थान प्राप्त कर लिया परन्तु मंगलवार को शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी में हाथरस से किसी भी शिक्षक द्वारा प्रतिभाग न करने के कारण सख्या शून्य रही

15 जुलाई से शुरू होने बाली शिक्षकों की ऑनलाइन उपस्थिति विभाग द्वारा 8 जुलाई से शुरू करा दी गयी बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से सभी स्कूलों में दो-दो टेबलेट उपलब्ध करवाए हैं, जिसके माध्यम से अध्यापकों को स्कूल खुलने के 15 मिनट पहले और बंद होने के 15 मिनट के बाद तक प्रेरणा ऐप से डिजिटल हाजिरी लगानी है. जिले के शिक्षक इसी का विरोध कर रहे हैं. शिक्षकों का कहना है कि पहले उनकी जो मांगें हैं उन्हें पूरी की जाए। शिक्षकों ने मंगलवार को स्कूलों में शिक्षण कार्य काली पट्टी बांधकर.करायाऑनलाइन हाजरी के लिए अगर स्कूल सुबह 8 बजे से खुल रहा है तो टीचर्स को 7.30 से 8 बजे के बीच अपनी फोटो टेबलेट से लेकर प्रेरणा ऐप पर अपलोड करनी होगी. लेकिन खास बात ये है कि ऐप इसी समय अंतराल पर एक्टिव रहेगा और वह भी स्कूल परिसर में होने पर ही अटेंडेंस के लिए इनेबल रहेगा. यानी अब साढ़े 8.3 बजे तक अटेंडेंस लगाई जा सकती है. जिसका सभी शिक्षक संगठनों ने मिलकर जमकर विरोध कर रहे है संगठनों का कहना है कि विभाग द्वारा जमीनी हकीकत को न समझते हुये उल जलूल आदेश जारी किया जाता है तथा शिक्षकों की मागों को सालों से दरकिनार किया जा रहा है ऑनलाइन हाजिरी व्यवहारिक नहीं है क्यों कि अधिकतर विद्यालय ग्रामीण क्षेत्रों में है अधिकतर विद्यालयों में जाने के लिये कच्चे रास्ते है जलभराव की स्थिति रहती है व्यावहारिक कठिनाइयों को दूर किए बिना डिजिटाइजेशन लागू करा पाना संभव ही नहीं है। सबसे पहले शिक्षकों की मागों को विभाग पूरा करें उनको संसाधन उपलब्ध कराये।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments