Home ब्रज पंजाब पुलिस ने ‘वारिस पंजाब दे’ मुखिया अमृतपाल को हिरासत में लिया

पंजाब पुलिस ने ‘वारिस पंजाब दे’ मुखिया अमृतपाल को हिरासत में लिया

खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पंजाब पुलिस ने ‘वारिस पंजाब दे’ मुखिया अमृतपाल को नकोदर के पास से हिरासत में लिया है. इससे पहले पुलिस ने अमृतपाल के 6 साथियों को गिरफ्तार किया था. तब अमृतपाल फरार हो गया था, जिसको पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें लगी थीं. बताया जा रहा है कि पुलिस ने गिरफ्तार लोगों से हथियार और 2 गाड़ियां बरामद की हैं. आपको बता दें की पंजाब के कई जिलों में कल रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. अमृतपाल सिंह के खिलाफ 3 मामले दर्ज हैं, जिसमें से 2 हेट स्पीच के संबंधित है. सूत्रों के अनुसार, धर्मकोट के नजदीक महितपुर थाने के पास पुलिस ने ये 6 गिरफ्तारियां की हैं.

 

 

पंजाब पुलिस ने राज्य के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. पुलिस ने कहा, “सभी नागरिकों से अनुरोध है कि शांति और सद्भाव बनाए रखें. पंजाब पुलिस कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए काम कर रही है. नागरिकों से अनुरोध है कि वे घबराएं नहीं या फर्जी समाचार या हेट स्पीच न फैलाएं. सूत्रों के मुताबिक पंजाब में स्थिति को देखते हुए गृह मंत्रालय लगातार पंजाब सरकार के संपर्क में है. इसके साथ ही राज्य पुलिस की सहायता के लिए केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों की कंपनियों को अलर्ट पर रखा गया है. सुरक्षा के लिहाज से अमृतपाल के गांव जल्लुपुर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

नकोदर के पास से अमृतपाल हिरासत में ले लिया गया. पंजाब सरकार की तरफ से बयान आया है. जिसमें कहा गया है कि सार्वजनिक सुरक्षा के हित में पंजाब के क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र में सभी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं, सभी SMS सेवाएं यानी की बैंकिंग और मोबाइल रिचार्ज को छोड़कर और voice call को छोड़कर मोबाइल नेटवर्क पर प्रदान की जाने वाली सभी डोंगल सेवाएं 18 मार्च से 19 मार्च के 12 बजे तक निलंबित रहेंगी.

पुलिस की 100 से ज्यादा गाड़ियां अमृतपाल और उसके साथियों का पीछा कर रही थीं. पुलिस ने अमृतपाल की गाड़ियों को टक्कर मारने की भी कोशिश की. उसकी लोकेशन के आधार पर उसे नकौदर के पास से हिरासत में लिया गया है. दरअसल, कुछ दिन पहले ही खुफिया एजेंसियों के हवाले से खबर आई थी कि एंटी नेशनल एलीमेंट अमृतपाल पर हमले की योजना बना रहे हैं और अमृतपाल पर हमला करके कानून व्यवस्था बिगाड़ने की साजिश कर रहे हैं.