गुरूवार, अप्रैल 25, 2024
होमहाथरसनकल विहीन एवं पारदर्शितापूर्ण परीक्षा कराने को प्रधानाचार्यो तथा प्रबन्धकों के साथ...

नकल विहीन एवं पारदर्शितापूर्ण परीक्षा कराने को प्रधानाचार्यो तथा प्रबन्धकों के साथ बैठक की

हाथरस ।
जिलाधिकारी अर्चना वर्मा द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में आगामी 16 फरवरी 2023 से प्रारम्भ हो रही यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को नकल विहीन एवं पारदर्शितापूर्ण सम्पन्न कराने के उद्देश्य से कलेक्ट्रेट सभागार में प्रधानाचार्यो तथा प्रबन्धकों के साथ बैठक करते हुए अपर जिलाधिकारी न्यायिक मो0 मोइनुल इस्लाम ने जिला प्रशासन की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा कि परीक्षाओं का माहौल खराब करने अथवा नकल कराने का प्रयास कराने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी जायेगी।
अपर जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में हाईस्कूल एवं इंटर की परीक्षा को सम्पन्न कराने के लिए 100 परीक्षा केन्द्रों को चिहिन्त किया गया है। सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को परीक्षा केन्द्र पर परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए पर्याप्त फर्नीचर, शौचालय, पार्किंग, प्रकाश, पेयजल आदि की समय से व्यवस्था करने के लिये निर्देश दिये।

उन्होंने यूपी बोर्ड परीक्षाओं को सकुशल संपन्न कराए जाने हेतु बनाए गए परीक्षा केंद्रों के प्रभारियों, प्रधानाचार्य एवं प्रबंधकों को परीक्षा कक्ष में प्रकाश, बैठने एवं साफ सफाई के उचित प्रबंध करने के निर्देश दिए, साथ ही परीक्षा केंद्र पर स्थापित समस्त शौचालयों की नियमित रूप से दो से तीन बार साफ सफाई कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने समस्त परीक्षा केंद्र प्रभारियों को परीक्षा कक्षों में सीसीटीवी कैमरे लगवाने एवं उनको इंटरनेट के माध्यम से कनेक्ट करने के निर्देश दिए। जिससे कि कलेक्ट्रेट में बनाए गए कंट्रोल रूम के माध्यम से परीक्षा केंद्र एवं परीक्षा कक्ष की निगरानी की जा सके। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी परीक्षा केंद्र पर परीक्षा के दौरान नकल कराने अथवा किसी भी छात्र/छात्रा के स्थान पर कोई अन्य परीक्षार्थी पेपर देते हुए पाया जाता है तो संबंधित के विरुद्ध एफ0आई0आर0 दर्ज कराई जाएगी तथा परीक्षा केंद्र प्रबंधक तथा प्रधानाचार्य के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी तथा भविष्य में कभी भी उस विद्यालय में परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। परीक्षा केंद्र पर तैनात कोई भी कर्मचारी मोबाइल लेकर नहीं आएगा यदि जांच के दौरान ऐसा पाया जाता है तो संबंधित तथा परीक्षा केंद्र प्रभारी के विरुद्ध भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र पर परीक्षा हेतु जितने कक्षों की आवश्यकता है उतने कक्षों को खोलें तथा शेष कक्षों को सील कराना सुनिश्चित करें यदि कोई भी कक्षा अनावश्यक रूप से खुला पाया गया तो भी संबंधित के विरुद्ध जिम्मेदारी तय करते हुए कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। परीक्षा समाप्त होने के पश्चात प्रत्येक परीक्षा कक्ष की उत्तर पुस्तिकाओं को तत्काल परीक्षा कक्ष में ही लिफाफे के अंदर रखते हुए सील करने की कार्यवाही की जाएगी। इसमें यदि किसी भी प्रकार की लापरवाही पाई गई तो संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। ऐसा न करने वाले परीक्षा केंद्रों की परीक्षा निरस्त करते हुए पुनः कराई जाएगी तथा परीक्षा केंद्र को भी निरस्त करने की कार्यवाही अमल में लाई जाएगी एवं भविष्य में भी उस विद्यालय में किसी भी परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। सभी प्रधानाचार्यो तथा प्रबन्धको से यह अपेक्षा की जाती है कि वे परीक्षा करवाने के लिए सभी मानक पूरे करेगे। अपर जिलाधिकारी ने आगामी यूपी बोर्ड की परीक्षा को नकल विहीन सम्पन्न कराने के लिए सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को परीक्षा की सुचिता बनाये रखने के लिए प्रभावी कदम उठाने के कडे निर्देश दिये। प्रत्येक दशा में सुनिश्चित करें कि परीक्षा केन्द्र पर कोई भी छात्र-छात्रा परीक्षा के दौरान अनुचित साधनों का कतई प्रयोग न कर सके, इसके लिए कडी निगरानी की जाये। इसका उल्लंघन करने वाले लोगों के विरूद्ध थाना में एफआईआर दर्ज कराकर पुलिस विधिक कार्यवाही सुनिश्चित करेगी। उन्होंने समस्त केन्द्र प्रभारी/

प्रधानाचार्य को निर्देश दिए कि परीक्षा समाप्ति के उपरान्त छात्र/छात्राओं को समय अन्तराल से छोड़े जिससे कि अनावश्यक भीड़ न होने पाये।

अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि परीक्षा केन्द्रों के आस-पास 100 मीटर की परिधि में और आवश्यकता पड़ने पर उसके बाहर भी दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू रहेगी। परीक्षा केन्द्रों से न्यूनतम् 01 कि०मी० की परिधि में फोटो कॉपियर एवं स्कैनर का संचालन परीक्षा अवधि में पूर्णतः प्रतिबन्धित रहेगा। उन्होंने कहा कि समस्त परीक्षा केन्द्रों के आस-पास ध्वनि विस्तारक यंत्रो का प्रयोग प्रतिबंधित रहेगा। समस्त परीक्षा केन्द्रो पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात रहेगा।

नियमों का उल्लघंन करते हुए पाये जाने पर अराजक तत्वों के विरूद्ध नियमानुसार एफ0आई0आर दर्ज कराने के साथ ही कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

जिला विद्यालय निरीक्षक रीतू गोयल ने बैठक के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में परिषदीय परीक्षा 2023 हेतु 100 परीक्षा केन्द्र निर्धारित किये ग,उये हैं। जिनमें 05 राजकीय माध्यमिक विद्यालय, 45 अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय, 50 वित्त विहीन विद्यालय हैं। जिनमें हाईस्कूल के 26708 तथा इण्टरमीडिएट के 24386 छात्र/छात्राओं परीक्षा देगें।

यूपी बोर्ड परीक्षा दिनांक 16 फरवरी 2023 से हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं प्रारंभ हो रही हैं। कक्ष निरीक्षक को बिना आई0डी0 कार्ड पहने परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। परीक्षा परिसर के अन्दर परीक्षार्थी को पाठ्यसामग्री नहीं ले जाने हेतु परीक्षा केन्द्र के मुख्य गेट पर ही परिक्षार्थियों की तलाशी सुनिश्चित की जाये। छात्राओं की तलाशी महिला अध्यापिकाओं के द्वारा ही लिये जाने की व्यवस्था की जाये। इसके अलावा छात्राओं के परीक्षा केन्द्र पर महिला पुलिस की भी तैनाती की जायेगी।
बैठक के दौरान संबंधित परीक्षा केन्द्र प्रभारी/प्रधानाचार्य, केन्द्र व्यवस्थापक आदि उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments