गुरूवार, जुलाई 18, 2024
होमब्रजSikandraRao/Hasayanधूं-धू कर जले असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक रावण व...

धूं-धू कर जले असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक रावण व मेघनाथ के पुतले

सिकंदराराऊ (ब्रजांचल ब्यूरो/अनूप) –

दशहरा मेले में रावण का पुतला असत्य पर सत्य की जीत के प्रतीक के रूप में जलाया गया। रावण, मेघनाथ के पुतले श्रीराम द्वारा अग्निवाण छोडते ही धूं-धंू कर जल उठे। दशहरा मेले को देखने के लिए क्षेत्र के हजारों लोगों की भीड नगर पालिका क्रीडा स्थल पर उमडी। काफी देर तक रामलीला के पात्रों द्वारा राम-रावण के बीच युद्ध का प्रदर्शन किया गया। राम के साथ पूरी वानर सेना एवं हनुमान, लक्ष्मण, रावण की सेना के साथ युद्ध लड रहे थे। वहीं काली के स्वरूप भी तलवारबाजी के करतबों का प्रदर्शन कर रहे थे। नगर पालिका क्रीडा स्थल में ऊंचे-ऊंचे रावण व मेघनाथ के पुतले बनाये गये थे।

रावण के पुतले का दहन पूर्व विधायक यशपाल सिंह चैहान एवं उद्योगपति देवेन्द्र राघव ने आतिशबाजी चला कर किया। पूरी बानर सेना उनके पुतले पर टूट पडी। मुख्य अतिथि श्री चैहान ने कहा कि रावण का तीनों लोकों में आतकं होने के कारण भगवान राम ने उसका बध किया और लोगों को अधर्म व अत्याचार से मुक्ति दिलाई।
उद्योगपति देवेन्द्र राघव ने कहा कि वर्तमान में लोगों को अपने अंदर छिपे अहंकार, भ्रष्टाचार एवं कुरीतियों को त्याग कर उसका दहन करें।

इस मौके पर रामलीला कमेटी के अध्यक्ष गिरीश मोहन गुप्ता, महामंत्री के के राघव, विशाल वाष्र्णेय, देवदत्त वर्मा, दुर्वेश पचैरी, विजय भारत कुलश्रेष्ठ, तेजवीर सिसौदिया, विक्की , कृष्णा यादव, श्याम मूर्ति वाष्र्णेय, मुकुल गुप्ता, रितिक गुप्ता अभिषेक वाष्र्णेय, आदि मौजूद थे। मेले के दौरान सुरक्षा व्यवस्था की कमान सीओ डा. राजीव कुमार, कोतवाली प्रभारी डीके सिसौदिया, निरीक्षक योगेन्द्र सिंह, आदि ने पुलिस व पी.ए.सी के साथ सम्हाल रखी थी।

RELATED ARTICLES

4 टिप्पणी

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments