बुधवार, अप्रैल 24, 2024
होमराजनीतिएनडीए बैठक से पहले अपने बयान से पलटे ओम प्रकाश राजभर

एनडीए बैठक से पहले अपने बयान से पलटे ओम प्रकाश राजभर

सुभाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर दल बदलने के साथ बयान बदलने में भी माहिर हैं। बीजेपी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए (NDA) की बैठक से पहले अपने बयान से ओमप्रकाश राजभर पलट गए हैं।

आपको बता दें कि अब्बास अंसारी मऊ सदर की जनता का आशीर्वाद प्राप्त कर विधायक बन गए. सपा की सरकार नहीं बनने पर सुभासपा का गठबंधन टूट गया. सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अब्बास अंसारी पर बड़ा बयान दिया है।उन्होंने सोमवार को माफिया मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के बेटे अब्बास अंसारी (Abbas Ansari) को अपनी पार्टी का अधिकृत विधायक माना था. फिर एक दिन बाद उन्होंने अब्बास अंसारी पर बड़ा बयान देकर चौंका दिया. ओमप्रकाश राजभर ने विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी पर सीट बंटवारे में धोखा देने का आरोप अब्बास अंसारी पर लगाया।

चौबीस घंटे बाद अपने बयान से मुकरे राजभर

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अब्बास अंसारी समेत महादेवा से दूध राम, जफराबाद से जगदीश राय सपा के प्रत्याशी रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि अब्बास अंसारी, दूध राम और जगदीश राय सुभासपा के सिंबल पर चुनाव लड़कर विधायक बने थे। लेकिन सपा की तरफ से डमी कैंडिडेट भी बनाए गए थे। राजभर का कहना है कि सपा ने हमारे सिंबल पर अपने प्रत्याशी विधानसभा चुनाव में खड़े किए गए थे। सूत्रों के मुताबिक एनडीए की बैठक में अब्बास अंसारी के मुद्दे पर बातचीत होगी।

अब्बास अंसारी पर मुख्तार अंसारी के बेटे ने क्या कहा?

मुख्तार अंसारी के बेटे कहना है कि,मऊ सदर की सीट सुभासपा के खाते में आने पर अब्बास अंसारी को उम्मीदवार बनाया गया था। अब्बास अंसारी मऊ सदर की जनता का आशीर्वाद प्राप्त कर विधायक बन गए। और सपा की सरकार नहीं बनने पर सुभासपा का गठबंधन टूट गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  बीते साल नवंबर में अब्बास अंसारी की गिरफ्तारी पर भी ओपी राजभर ने बड़ा बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि, अब्बास अंसारी सुभासपा के नहीं सपा के हैं। सपा ने डमी प्रत्याशियों को टिकट दिलवाकर सुभासपा को खत्म करने का प्रयास किया था। राजभर ने अब्बास अंसारी पर सपा का झंडा लेकर भी घूमने का आरोप लगाया था।

 

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments