बुधवार, दिसम्बर 6, 2023
होमब्रजआयुर्वेद के नुस्खे आजमाएं - खांसी दूर भगाएं

आयुर्वेद के नुस्खे आजमाएं – खांसी दूर भगाएं

पुदीना पत्ती व काला जीरा का दिन में एक बार लें भाप
– लौंग पाउडर को मिश्री व शहद के साथ लेना फायदेमंद  

हाथरस ।

कोरोना संकट के इस दौर में हलकी-फुल्की खांसी और गले में खराश को लेकर बहुत घबराने की जरूरत नहीं है । मौसम में बदलाव और ठंडा-गर्म खाने-पीने से भी इस तरह की समस्या हो सकती है । इसके लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसकी दवा तो आपके किचेन में ही मौजूद है, बस जरूरत उसे जानने और दूसरों को समझाने की है । आयुर्वेद के इसी ज्ञान से खुद को सुरक्षित रखने के साथ दूसरों को भी सुरक्षित रखा जा सकता है ।  

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की आयुष इकाई के महाप्रबंधक डॉ. रामजी वर्मा का कहना है कि सूखी खांसी व गले में खराश को दूर करने में आयुष का घरेलू उपचार बहुत ही कारगर है । उनका कहना है कि ताजे पुदीने के पत्ते और काला जीरा को पानी में उबालकर दिन में एक बार भाप लेने से इस तरह की समस्या से राहत मिल सकती है । इसके अलावा लौंग के पाउडर को मिश्री/शहद के साथ मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से इस तरह की समस्या दूर हो सकती है । डॉ. वर्मा का कहना है कि यदि इसके बाद भी दिक्कत ठीक नहीं होती है तभी चिकित्सक की सलाह लें । जानकारी के अभाव में लोग इसके लिए चिकित्सक की सलाह लिए बगैर भी मेडिकल स्टोर से कुछ दवाएं खरीदकर आजमाने लगते हैं, जो कि बहुत ही नुकसानदेह साबित हो सकती हैं ।

डॉ. वर्मा का कहना है इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के एक से एक नुस्खे आयुर्वेद में मौजूद हैं, जिसको आजमाकर हम कोरोना ही नहीं अन्य संक्रामक बीमारियों को भी अपने से दूर कर सकते हैं । इसके अलावा इन नुस्खों के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं । भोजन में हल्दी, धनिया जीरा और लहसुन का इस्तेमाल भी इसमें बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है । इसके अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीकर, गुनगुना पानी और हर्बल चाय/काढ़ा पीकर भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं । इसके साथ ही योगा, ध्यान और प्राणायाम का भी सहारा लिया जा सकता है । बदली परिस्थितियों में आप यही छोटे-छोटे नुस्खे आजमाकर स्वस्थ रह सकते हैं क्योंकि अभी अस्पताल और चिकित्सक कोविड-19 या कोरोना मरीजों की जाँच और देखरेख में व्यस्त हैं । इसलिए अस्पतालों में अनावश्यक दबाव बढ़ाने से बचें और सुरक्षित रहें ।

डॉ. बृजेश राठौर, सीएमओ

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लोग आयुर्वेद का तथा अन्य विधाओं का सहारा लें। साथी ही सोशल डिस्टेंस और भीड़ भाड़ में मास्क का प्रयोग अवश्य करें।
– डॉ. बृजेश राठौर, सीएमओ

RELATED ARTICLES

248 टिप्पणी

  1. To understand present scoop, adhere to these tips:

    Look in behalf of credible sources: https://marinamarina.co.uk/articles/why-did-it-take-more-than-a-week-for-the-news-of.html. It’s important to ensure that the news origin you are reading is reliable and unbiased. Some examples of virtuous sources subsume BBC, Reuters, and The Fashionable York Times. Review multiple sources to get a well-rounded aspect of a particular info event. This can support you carp a more over facsimile and avoid bias. Be hep of the angle the article is coming from, as even reputable report sources can contain bias. Fact-check the information with another origin if a scandal article seems too unequalled or unbelievable. Till the end of time pass unshakeable you are reading a fashionable article, as news can change quickly.

    By following these tips, you can become a more informed news reader and more intelligent understand the beget here you.

  2. To understand true to life scoop, ape these tips:

    Look in behalf of credible sources: https://marinamarina.co.uk/articles/why-did-it-take-more-than-a-week-for-the-news-of.html. It’s important to ensure that the report source you are reading is reliable and unbiased. Some examples of reputable sources include BBC, Reuters, and The Modish York Times. Review multiple sources to get back at a well-rounded aspect of a precisely low-down event. This can support you listen to a more over display and keep bias. Be hep of the position the article is coming from, as flush with good telecast sources can be dressed bias. Fact-check the low-down with another fountain-head if a news article seems too sensational or unbelievable. Forever pass persuaded you are reading a fashionable article, as news can transmute quickly.

    By means of following these tips, you can evolve into a more au fait rumour reader and more wisely apprehend the everybody everywhere you.

  3. Anna Berezina is a honoured originator and speaker in the field of psychology. With a training in clinical luny and far-flung probing experience, Anna has dedicated her career to armistice lenient behavior and mental health: https://pbase.com/waitertemper80/root. By virtue of her between engagements, she has мейд relevant contributions to the field and has become a respected contemplating leader.

    Anna’s skill spans several areas of thinking, including cognitive disturbed, favourable non compos mentis, and emotional intelligence. Her comprehensive knowledge in these domains allows her to provide valuable insights and strategies exchange for individuals seeking offensive growth and well-being.

    As an originator, Anna has written disparate influential books that cause garnered widespread recognition and praise. Her books offer functional suggestion and evidence-based approaches to help individuals command fulfilling lives and develop resilient mindsets. By combining her clinical expertise with her passion on serving others, Anna’s writings drink resonated with readers roughly the world.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

MichaelPem on Blog Post Title
MichaelPem on Blog Post Title
MichaelPem on Blog Post Title
1xbet bonuses when registering with a promo on Blog Post Title
ScottCig on Blog Post Title
AaronMet on Blog Post Title
AaronMet on Blog Post Title
AaronMet on Blog Post Title
Frqdhm on