गुरूवार, मई 16, 2024
होमएटाअवैध संबंध को छुपाने के लिए पिता ने की बेटी की हत्या

अवैध संबंध को छुपाने के लिए पिता ने की बेटी की हत्या

क्षेत्र के गांव गनेशपुर से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। जहां एक प्यार में पागल पिता ने अपनी बेदी की हत्या कर दी। पिता के अवैध संबंध पास के ही कस्बे में रहने वाली महिला के साथ चल रहे थे। पिता ने रात्रि में सो रही बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी। बेटी पिता के अवैध संबंधों का विरोध करती थी। इसके बाद पत्नी और बेटे को कमरे में बंद कर घर से शव उठा ले गया और रात में ही फूंक दिया। आरोपी पिता फरार है।

गांव गनेशपुर निवासी ब्रजवासी के अवैध संबंध थाना रिजोर क्षेत्र की एक महिला से बताए गए हैं। यह महिला ब्रजवासी के घर आती-जाती थी। पत्नी शकुंतला और बेटी नीलू को यह सब खलता था। नीलू ने अपने पिता के मोबाइल से कुछ साक्ष्य भी जुटा रखे थे। रात के वक्त बेटी और पिता में कहासुनी भी हुई थी। इसके बाद आरोप है कि पिता ने बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी और शव को घर के बाहर स्थित नीम के पेड़ पर खुदकुशी का रूप देने के लिए टांग दिया।
मां का कहना है कि उनकी आंख दो बजे खुली तो बेटी घर पर नहीं थी, बाहर देखा तो पेड़ पर लटकी हुई थी। शव उतारकर रख लिया गया, तभी आरोपित पिता ने अपनी पत्नी और बेटा रोहिताश को घर के कमरे में बंद कर दिया और शव को लेकर चला गया तथा रात में ही फूंक दिया। सुबह होने पर पत्नी ने पुलिस को सूचना दी और पूरे मामले की जानकारी दी। दोपहर बाद मां और उसका भाई कोतवाली पहुंचे और पति के विरुद्ध हत्या की तहरीर दे दी। जिसमें रिजोर क्षेत्र की महिला से पत्नी शकुंतला ने अपने पति के अवैध संबंध बताए हैं।

तहरीर में एक और महिला का नाम दिया गया है जो अवैध संबंध वाली महिला की बुआ है। यह दोनों ही महिलाएं घर पर आती-जाती थीं। मामले की एफआइआर ब्रजवासी और दोनों महिलाओं के विरुद्ध दर्ज कराई गई है। सीओ इरफान नासिर खान ने बताया कि पत्नी ने अपने पति और दो महिलाओं पर बेटी की हत्या करने का आरोप लगाया है, हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपितों की तलाश में दविश दी जा रहीं हैं, शीघ्र ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

15 दिन पूर्व घेराबंदी कर बचाया था बेटा ब्रजवासी के दो पुत्र नीतेश और रोहिताश हैं। इनमें से नीतेश को पिता का चाल-चलन देखकर ननिहाल वाले अपने साथ ले गए थे और उसे वहीं पढ़ा रहे थे, वह तीसरी कक्षा में पढ़ता है। 15 दिन पूर्व ब्रजवासी बाइक से अपनी ससुराल आपुर थाना क्षेत्र एका जनपद फिरोजाबाद पहुंचा और नीतेश को उठा ले गया। जब ससुराल वालों और गांव के लोगों को पता चला तो उन्होंने पीछा कर घेराबंदी कर ली और बच्चे को छुड़ा लिया, इस वजह से उसकी जान बच गई। शकुंतला के भाई सुभाष ने बताया कि बेटी की हत्या के लिए पिता और वे दोनों महिलाएं जिम्मेदार हैं।

रिपोर्ट: राघवेन्द्र अगरिया

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments